A-AA+
A-AA+
Select Page

स्वच्छ भारत अभियान

होम / दीर्घोपयोगिता / स्वच्छ भारत अभियान
”जब तक आप अपने हाथ में झाडू एवं बाल्टी नहीं उठाते है, तब तक आप अपने कस्बे एवं शहर को साफ नही रख सकते।” महात्मा गांधी

माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरूआत किया गया ”स्वच्छ भारत अभियान” एक परिवर्तनकारी पहल है। स्वच्छ भारत के लिए माननीय प्रधानमंत्री के आह्वान के परिप्रेक्ष्‍य में नवरत्न कम्पनी ईआईएल ने 2 अक्टूबर, 2014 को देश में शुरू किए गए स्वच्छ भारत अभियान में साथ भाग लिया।

आगामी वर्षों में गति बनाये रखने के उद्‌देश्य से ईआईएल ने कई पहल की जिसमें भारतीय जनमानस के एक बड़े वर्ग विशेषकर महिला छात्रों के लिए सुरक्षित एवं स्वच्छ शौचालय जैसी मूलभूत सुविधा स्वच्छ भारत अभियान के अन्तर्गत उपलब्ध कराना भी शामिल है। ईआईएल ने बिहार, ओडिसा, तमिलनाडू और आसाम में लड़कों और लड़कियों के लिए 509 विद्यालयों में शौचालय का निर्माण कराया है ।
लड़कियों और लड़कों के लिए पृथक-पृथक शौचालय की योजना तैयार की गई थी जिनमें से कुछ तो दूरस्‍थ क्षेत्रों में थे।

विगत 02 वित्तीय वर्षो से ईआईएल ने स्वच्छ भारत अभियान के लक्ष्यों को हासिल करने के लिए पूरी लगन से आन्दोलन में भाग लिया। कई कार्य-कलाप जैसे कार्यालय परिसर में और आस-पास स्वच्छता अभियान, पोस्टर, स्लोगन प्रतियोगिताएं देश भर में कम्पनी के सभी कार्यालयों में नियमित रूप से आयोजित की गईं जिसमें कम्पनी के सभी कर्मचारियों ने उत्साहपूर्वक भाग लिया।

स्‍वच्‍छता पहल के तहत प्रत्‍येक वर्ष स्‍वच्‍छ भारत पखवाड़ा मनाया जाता है । स्‍वच्‍छ भारत पखवाड़ा गतिविधियों के भाग रूप में ईआईएल कर्मचारीगण एकट्ठा होकर कंपनी मुख्‍यालय भीकाजी कामा प्‍लेस, नई दिल्‍ली के आस-पास के इलाके में सफाई अभियान चलाकर स्‍वच्‍छता पखवाड़े के एकमात्र लक्ष्‍य को ध्‍यान में रखते हुए अपना जोश निरंतर जारी रखा है। पखवाड़ा समारोह के भाग के रूप में, सभी कर्मचारियों को स्‍वच्‍छता शपथ दिलाई जाती है तथा स्‍वच्‍छता जागरूकता फैलाने के लिए प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं।

Swachh Bharat Abhiyaan1
Swachh Bharat Abhiyaan2
Swachhta Pakhwada3
स्‍वच्‍छ भारत पखवाड़ा मनाये जाने के अलावा, ईआईएल वर्ष भर नियमित रूप से बहुत सारी गतिविधियां आयो‍जित करता है। स्‍वच्‍छ भारत अभियान के अंतर्गत ईआईएल द्वारा आयोजित गतिविधियां/कार्यक्रम/पहलों का विवरण निम्‍नप्रकार है:

स्‍वच्‍छ विद्यालय कार्यक्रम

भारतीय जनमानस के एक बड़े वर्ग विशेषकर महिलाओं के लिए सुरक्षित एवं स्वच्छ शौचालय जैसी मूलभूत सुविधा उपलब्‍ध कराने में सहयोग करते हुए, ईआईएल ने बिहार, ओडिसा, तमिलनाडू और आसाम में 509 विद्यालयों में शौचालय का निर्माण तथा मरम्‍मत कराई । लड़कियों और लड़कों के लिए पृथक-पृथक शौचालय की योजना तैयार की गई, जिनमें से कुछ तो दूरस्‍थ क्षेत्रों में मौजूद थे।स्‍थानीय निकाय, राज्‍य सरकार तथा केंद्र सरकार के सक्रिय भागीदारी के साथ सभी शौचालयों का निर्माण तय समय से पहले ही कर लिया गया। (अनुलग्‍नक में फोटो सलंग्‍न हैं)

श्रमधन

ईआईएल अधिकारियों द्वारा पूरे जोश के साथ सफाई अभियान में भाग लिया जा रहा है जो मुख्‍यालय के आस-पास की जगह, ट्रेफिक वाली जगहों तथा ईआईएल के अन्‍य साइट परिसरों पर नियमित रूप से किया जा रहा है । ईआईएल कर्मचारियों द्वारा अपने सभी साइट परिसरों पर की गई श्रमधन गतिविधियों संबंधी विवरण को मासिक ई-समीक्षा रिपोर्ट के माध्‍यम से पेट्रोलियम व प्राकृतिक गैस मंत्रालय को सूचित कराया जाता है। ईआईएल के स्‍वच्‍छता संबंधी प्रयास मौजूदा सीएसआर के अनुक्रम में है जो लक्षित क्षेत्रों का संपूर्ण परिवर्तन सुनिश्चित करने के लिए हैं । इस दिशा में कदम उठाते हुए 31 अक्‍तूबर, 2015 को गुरू विश्राम वृद्ध आश्रम, बदरपुर दिल्‍ली जो संत हरदयाल शैक्षणि‍क और अनाथ कल्‍याण संस्‍था( एसएचओडब्‍लूएस) का एक वृद्ध आश्रम है, में और उसके पास सफाई अभियान चलाया जिसमें ईआईएल के अधिकारियों द्वारा पूरे जोश के साथ भाग लिया।

स्‍वच्‍छता और सेनीटेशन

ईआईएल के सभी कार्यालय परिसर में शौचालयों एवं फर्श की सफाई का निरीक्षण लगभग दैनिक/सप्ताहिक रूप से किया जाता है। ईआईएल के फील्ड पर्सनल सेल और ईआईएल मुख्‍यालय/गुरूग्राम में प्रशासनिक अधिकारियों के माध्यम से साइट प्रभारी द्वारा विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध करायी जाती है।

External site alert

This link shall take you to a webpage outside https://engineersindia.com/hindi. For any query regarding the contents of the linked page, please contact the webmaster of the concerned website.