A-AA+
A-AA+
Select Page

उर्वरक

Fertilizersउर्वरक की माँग और स्वदेशी आपूर्ति में भारी अन्तर को ध्‍यान मे रखते हुए ईआईएल ने उर्वरक के क्षेत्र में अपने व्यावसायिक कार्यक्रम को संचालित करने की कार्यनीति तैयार की है। संगठन फीड स्टॉक जैसे गैस, नाफ्था एवं ईधन तेल के साथ उर्वरक परियोजनाओं के लिए संगठन सेवाओं की पूर्ण श्रृखंला प्रदान करता है। अमोनिया, यूरिया और फास्फेटिक प्रौद्योगिकी के सभी लाइसेंस/ठेकेदार के साथ कार्य करने से प्राप्त अनुभव ने हमारी क्षमता में वृद्धि की है।

हमारे परियोजना अनुभव में गैस आधारित उर्वरक योजनाएं बन्द उर्वरक कारखाना का पुनर्निमाण एवं पुर्नजीवीकरण परियोजनाएं और फ्यूल/फीड कनवर्जन नैप्था, एफओ/एस०एच०एस० आधारित भारत और दक्षिण पूर्व एशियाई क्षेत्र में परियोजनाएं शामिल हैं।

प्रमुख परियोजनाएं

एफसीआईएल का पुनरुद्धार- रामागुंडम उर्वरक संयंत्र को एफसीआईएल, एनएफएल और ईआईएल द्वारा संयुक्त रूप से प्रमोट किया गया है। (अमोनिया 2200 एमटीपीडी; यूआरए 3850 एमटीपीडी)
इण्डोरामा, नाइजीरिया के लिए एलेमे उर्वरक परिसर(अमोनिया 2300 MTPD; उर्मे 4000 MTPD)
बीसीआईसी, बांग्लादेश के लिए शाहजलाल उर्वरक परियोजना (अमोनिया 1000 एमटीपीडी; यूरिया 1760 एमटीपीडी)
पंचा अमरा उटामा, इंडोनेशिया के लिए केंद्रीय सुलावेसी इंडोनेशिया में अमोनिया प्लांट, (अमोनिया 1900 एमटीपीडी)
इंडोगल्फ फर्टिलाइजर्स, जगदीशपुर, भारत का रिवेम्प (अमोनिया 1910 एमटीपीडी; यूरिया 3400 एमटीपीडी)
फर्टिलाइजर एसोसिएशन ऑफ इंडिया के लिए ब्राउन फील्ड और ग्रीन फील्ड उर्वरक परियोजनाएं (अमोनिया 2200 एमटीपीडी; यूरिया 3850 एमटीपीडी)

External site alert

This link shall take you to a webpage outside https://engineersindia.com/hindi. For any query regarding the contents of the linked page, please contact the webmaster of the concerned website.