A-AA+
A-AA+
Select Page

स्‍वास्‍थ्‍य, सुरक्षा एवं पर्यावरण (एचएसई)

होम / दीर्घोपयोगिता / स्‍वास्‍थ्‍य, सुरक्षा एवं पर्यावरण (एचएसई)

Health, Safety and Environmentalहम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्‍वीकृत सर्वोत्तम प्रणालियों को अपनाने और लागू स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण (एच एस ई) कानूनों और अन्य अपेक्षाओं का विभिन्‍न क्षेत्राधिकारों में अपने प्रचालनों में अनुपालन करने के लिए प्रतिबद्ध है। ईआईएल की ओएचएसएमएस (व्यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा प्रबन्धन प्रणाली) ओएचएसएएस 18001 से प्रमाणित है और ईएमएस (पर्यावरणीय प्रबन्ध प्रणाली) आईएसओ 14001 से प्रमाणित है। ईआईएल में कार्पोरेट स्‍तर पर एक समर्पित एचएसई नीति है जिसकी निम्नलिखित मुख्य विशेषताएं हैं:

स्‍वास्‍थ्‍य, सुरक्षा एवं पर्यावरण नीति

  • लागू राष्‍ट्रीय और अंतर्राष्‍ट्रीय संहिताओं, मानकों, कार्यविधियों, इंजीनियरी पद्धतियों और ग्राहकों की अपेक्षाओं सहित विधिक/सांविधिक अपेक्षाओं के अनुरूप उत्पादों/सेवाओं का डिजाइन और सुपुर्दगी के दौरान स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण(एचएसई) की अपेक्षाओं  का अनुपालन सुनिश्चित करना।
  • अपने कार्यकलापों के एचएसई जोखिमों का पता लगाना और अपने कार्मिकों तथा अपने कार्यालयों व साइटों  पर हमारी गतिविधियों  में शामिल लोगों के  दुर्घटनाग्रस्‍त  व  अस्‍वस्‍थ होने की घटनाओं में कमी लाना।
  • अपने कार्यस्‍थलों पर सभी कार्यकलापों में संसाधनों का संरक्षण करके, अपशिष्‍ट उत्‍पादन  में कमी लाकर और प्रदूषण निवारण उपायों द्वारा  पर्यावरणीय दुष्प्रभावों को न्‍यूनतम करना।
  • समय-समय पर अपने कार्य निष्‍पादन की समीक्षा करके तथा आवश्यक परिवर्तन करते हुए अपनी एचएसई प्रबंधन प्रणाली में निरंतर सुधार के लिए प्रयास करना।
  • पूरे संगठन में एचएसई पहलुओं के प्रति जागरूकता बढ़ाना और एक ऐसी कार्य संस्‍कृति विकसित करना, जहां सभी कर्मचारी एचएसई के लिए प्रतिबद्ध हों।

अपनी कार्यप्रणालियों का प्रभावी रूप से कार्यान्वयन सुनिश्चित करने के लिए, सभी परियोजना में परियोजना निष्‍पादन के विभिन्न चरणों में सभी खतरों की पहचान की जाती है। शामिल जोखिम का मूल्यांकन किया जाता है तथा सुसज्जित सुरक्षा प्रणालियों का उन्‍न्‍यन करके, माल सूची स्‍तर का इष्‍टतमीकरण करके तथा आपातकाल कार्रवाई योजना के लिए दिशानिर्देश उपलब्‍ध कराने के लिए न्‍यूनीकरण उपाय कार्यान्वित किए जाते हैं।

हमारा मानना है कि सभी दुर्घटनाओं और व्यावसायिक स्वास्थ्य के खतरों को सुव्यवस्थित विश्लेषण और जोखिम के नियंत्रण के माध्यम से तथा कर्मचारियों, ठेकेदारों, उप-ठेकेदारों और समुदायों को उचित प्रशिक्षण प्रदान कराने से रोका जा सकता है।

तीव्र जोखिम विश्‍लेषण, जो हमारे कर्मचारी लोगों और पर्यावरण के खतरों के प्रभाव को न होने अथवा उन्‍हें न्‍यूनतम करने की दिशा निरंतर सक्रियता से कार्य करते हैं। हम व्‍यावसायिक स्‍वास्‍थ्‍य और सुरक्षा प्रक्रियाओं को अपने प्रचालनों के एक अभिन्न अंग के रूप में अपनाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं। हमारी स्‍वास्‍थ्‍य, सुरक्षा और पर्यावरण कार्यपद्धतियां इन पांच प्रक्रियाओं को अपनाकर कार्यान्वित की जाती हैं:

  • तीव्र जोखिम विश्लेषण, जो महत्वपूर्ण व्‍यतिक्रम स्थिति के प्रभाव का विश्लेषण करता है जिससे खतरनाक पदार्थ निकलते हैं और इनका लागू पर्यावरणीय अनापत्तियां प्राप्त करने में प्रयोग किया जाता है।
  • पर्यावरणीय प्रभाव आकलन, जो एक सुविधा के आस पास पर्यावरण और सुविधा विकास के संभाव्‍य प्रभाव का आकलन करता है और आवश्यक पर्यावरणीय अनापत्तियां  प्राप्त करने के लिए भी अपेक्षित होता है।
  • जोखिम पहचान (’’एचएजेडआर्इडी’’) अध्ययन, जो उपकरण संविन्‍यास का विश्लेषण करता है और संबंद्ध प्रचानात्मक जोखिमों का आकलन और समाधान करने के लिए जोखिम वाले क्षेत्र का वर्गीकरण करने में सहायता करता है।
  • जोखिम और ऑपरेबिलिटी (’’एचएजेडओपी’’) अध्ययन, जिसमें महत्‍वपूर्ण प्रचालनात्‍मक खतरों और समस्‍याओं के लिए डिजाइन सीमा को पहचानने हेतु सुविधाओं के डिजाइन की जाँच शामिल होती है।
  • सुरक्षा सत्‍यनिष्‍ठा स्‍तर (एसआर्इएल) अध्ययन, जो किसी भी खतरनाक इन्वेंट्री की निकासी से बचने के लिए उपकरण युक्त सुरक्षात्मक प्रणाली की विश्वसनीयता का आकलन करता है।

प्रत्‍येक कर्मचारी द्वारा हमारे स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरणीय उत्‍तरदायित्‍व का अनुप्रयोग अग्रपंक्ति पर्यवेक्षण, मानक प्रचालन प्रक्रियाओं के रूप में सुरक्षित कार्य प्रणालियों को शामिल करके, और सिद्धांत जिसका सुरक्षा कारोबार प्रक्रिया का एक बराबर का हिस्सा है, के माध्‍यम से लागू किया गया है।  विभिन्न परियोजना की गतिविधियों और संबंधित सुरक्षा मुद्दों के बारे में नियमित प्रशिक्षण दिया जाता है और कर्मचारियों के ज्ञान को अद्यतन किया जाता है।

हमने प्रदूषण, अपशिष्‍ट को न्‍यूनतम करके, और ईंधन की खपत का इष्‍टतमीकरण करके पर्यावरण निष्‍पादन के निरंतर सुधार की दिशा में पर्यावरण की रक्षा करने के लिए अपनी प्रतिबद्धता का प्रदर्शन किया है। हमें रिफाइनरी, पेट्रोरसायन, तेल और गैस, पाइपलाइनों, गैर-लौह धातुकर्म, टाउनशिप और क्षेत्र विकास परियोजना तथा विद्युत संयंत्रों के क्षेत्र में पर्यावरण प्रभाव अध्ययन करने के लिए भारतीय गुणवत्ता परिषद द्वारा मान्यता प्रदान की हुई है।

हमें अपने पूरे प्रचालनों में स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण मानकों के लिए हमारी प्रतिबद्धता की मान्यता के लिए कई पुरस्कार प्राप्त हुए हैं। उदाहरणार्थ, हमारे सेवार्थी आईओसीएल द्वारा प्रमाणित के अनुसार हमने पानीपत रिफाइनरी विस्‍तार परियोजना के लिए “दुर्घटनारहित” 81.86 मिलियन श्रमघंटे और पानीपत नैफ्था क्रेकर परियोजना के लिए “दुर्घटनारहित” 80 मिलियन श्रमघंटे कार्य करने का लक्ष्‍य हासिल किया है। इसी प्रकास से स्किडडा रिफाइनरी अल्जीरिया, ओपल दाहेज और ब्रह्मपुत्र क्रैकर और पॉलिमर लिमिटेड जैसी परियोजनाओं के लिए हमें क्रमशः दिनांक 07.10.12, 04.08.12 और 28.02.13 को सुरक्षा पुरस्‍कार प्रदान किए गए।

ईआईएल को भारतीय राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (एनएससीआई) से सर्वश्रेष्‍ठ सुरक्षा पुरस्‍कार (गोल्‍डन शील्‍ड) के लिए सुरक्षा पुरस्‍कार और निदेशकों के संस्थान (आईओडी) से गोल्‍डन पीकॉक व्यावसायिक स्वास्थ्य और सुरक्षा पुरस्कार के लिए विशेष प्रशस्ति प्रमाण प्राप्‍त हुए हैं।

एचएससी मामलों में नवीनतम प्रवृत्त्यिों और विकास को समक्ष रखते हेतु ईआईएल को ब्रिटिश सुरक्षा परिषद (सदस्य से 104420) एवं राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद (सदस्य से सीएम डीएलआई-225) की सदस्यता प्राप्त है। हम पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के अधीन तेल उद्योग सुरक्षा निदेशालय के लिए विभिन्न सुरक्षा मानकों के विकास के लिए पैनल के एक प्रमुख सदस्‍य है।

External site alert

This link shall take you to a webpage outside https://engineersindia.com/hindi. For any query regarding the contents of the linked page, please contact the webmaster of the concerned website.